Friday, October 14, 2011

नशा!




कई रातों से नहीं सोने पर
आँखों में उतरी हुई नींद
एक बोतल व्हिस्की
रम, वोदका, जीन
उसमें मिला दी स्कॉच
बियर और देसी भी
उस पर चाट ली अफीम
चरस, गाँजे, भाँग के साथ
फिर भी बच गया मैं
...पर नहीं बच सका
तेरे इश्क के नशे से ऐ-जालिम!