Friday, October 12, 2012

दगाबाज...


चेहरे के पीछे
छिपे होते हैं कईं चेहरे
दुआ करता हूं
देख न पाऊं इन्हें कभी
क्या पता कब
कोई दगाबाज निकल आए
डरता नहीं हूं, लेकिन
भ्रम में जिंदगी हो जाए बसर
तो क्या बुरा है